HomeBlogनीट परीक्षा क्या है! नीट परीक्षा 2024: तैयारी की पूरी गाइड (पाठ्यक्रम, रणनीति, सुझाव)

नीट परीक्षा क्या है! नीट परीक्षा 2024: तैयारी की पूरी गाइड (पाठ्यक्रम, रणनीति, सुझाव)

नीट (National Eligibility cum Entrance Test) भारत में उन लाखों मेधावी छात्रों के लिए प्रवेश द्वार है जो अपना भविष्य चिकित्सा के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं. यह परीक्षा देश के सभी सरकारी और अधिकतर निजी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) और बीडीएस (Bachelor of Dental Surgery) कोर्सेस में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है.

नीट परीक्षा में सफलता प्राप्त करना किसी भी मेडिकल उम्मीदवार के लिए आसान नहीं है. इसमें सफल होने के लिए कड़ी मेहनत, सही रणनीति और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता होती है. इस ब्लॉग में, हम नीट परीक्षा के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे, जिसमें इसके स्वरूप, पाठ्यक्रम, तैयारी की रणनीतियाँ और कुछ उपयोगी सुझाव शामिल हैं.

नीट परीक्षा का स्वरूप

नीट परीक्षा कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT) के रूप में आयोजित की जाती है. इसमें दो पेपर होते हैं: पेपर-1 (फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी) और पेपर-2 (अर्हता प्राप्त करने के लिए अनिवार्य नहीं, लेकिन मेडिकल कॉलेजों में सीट आवंटन के लिए महत्वपूर्ण). दोनों पेपर में कुल 180 बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) होते हैं, प्रत्येक प्रश्न के लिए चार विकल्प दिए जाते हैं. पेपर की अवधि तीन घंटे होती है.

नीट (National Eligibility cum Entrance Test) भारत में उन लाखों मेधावी छात्रों के लिए प्रवेश द्वार है जो अपना भविष्य चिकित्सा के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं. यह परीक्षा देश के सभी सरकारी और अधिकतर निजी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) और बीडीएस (Bachelor of Dental Surgery) कोर्सेस में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है.

नीट परीक्षा का पाठ्यक्रम

नीट परीक्षा का पाठ्यक्रम कक्षा 11 और 12 के भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान के एनसीईआरटी पाठ्यक्रम पर आधारित है. पाठ्यक्रम में विषयों के विभिन्न अध्याय शामिल हैं, जैसे कि भौतिक विज्ञान में गति, बल और कार्य, रसायन विज्ञान में आवर्त सारणी और रासायनिक बंधन, और जीव विज्ञान में कोशिका संरचना और कार्यप्रणाली.

नीट परीक्षा की तैयारी के लिए रणनीतियाँ

नीट परीक्षा की तैयारी के लिए एक प्रभावी रणनीति आवश्यक है. यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपकी तैयारी में मदद कर सकते हैं:

  • पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से समझें: सुनिश्चित करें कि आप पाठ्यक्रम से अच्छी तरह वाकिफ हैं और प्रत्येक विषय के महत्वपूर्ण अध्यायों की पहचान करें.
  • एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों को प्राथमिकता दें: एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकें नीट परीक्षा की तैयारी के लिए सबसे महत्वपूर्ण संसाधन हैं. इन्हें अच्छी तरह से पढ़ें और समझें.
  • नियमित रूप से अभ्यास करें: नियमित रूप से अभ्यास करना सफलता का एक महत्वपूर्ण कारक है. पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों और मॉक टेस्ट को हल करने का प्रयास करें.
  • समय प्रबंधन का ध्यान रखें: नीट परीक्षा में समय प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण है. प्रत्येक प्रश्न को हल करने के लिए एक निश्चित समय सीमा निर्धारित करें और उसका पालन करें.
  • शंकाओं का समाधान करें: यदि आपको किसी अवधारणा में कोई संदेह है, तो अपने शिक्षक या किसी अनुभवी व्यक्ति से मदद लें.
  • स्वस्थ रहें और तनाव दूर करें: परीक्षा के दौरान मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना महत्वपूर्ण है. नियमित रूप से व्यायाम करें, पर्याप्त नींद लें और तनाव दूर करने के लिए कुछ तकनीकों का अभ्यास करें.

उपयोगी सुझाव

  • समय से तैयारी शुरू करें: जितनी जल्दी आप तैयारी शुरू करेंगे, उतना ही बेहतर होगा. 11वीं कक्षा से ही तैयारी शुरू करना आदर्श है.
  • कोचिंग लेने पर विचार करें: यदि आवश्यक हो, तो आप किसी अच्छे कोचिंग संस्थान में दाखिला ले सकते हैं.
  • ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग करें: कई ऑनलाइन संसाधन उपलब्ध हैं जो आपकी तैयारी में मदद कर सकते हैं, जैसे कि वीडियो व्याख्यान, ई


नीट परीक्षा में कुल तीन विषय होते हैं:

  • भौतिकी
  • रसायन विज्ञान
  • जीव विज्ञान (वनस्पति विज्ञान और जीव विज्ञान)

प्रत्येक विषय में 50 प्रश्न होते हैं, और कुल मिलाकर परीक्षा में 180 प्रश्न होते हैं. प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का होता है, इसलिए परीक्षा का कुल अंक 720 होता है.

नीट परीक्षा के लिए पात्रता प्राप्त करने के लिए, उम्मीदवारों को कक्षा 12 में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान में न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करने चाहिए.

नीट परीक्षा में निगेटिव मार्किंग होती है, इसलिए प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटा जाता है. इसलिए, उम्मीदवारों को जितने अधिक प्रश्न सही उत्तर देने होंगे, उनकी रैंक उतनी ही बेहतर होगी.

नीट परीक्षा में सफल होने के लिए, उम्मीदवारों को कम से कम 50% अंक प्राप्त करने चाहिए. हालांकि, प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को कम से कम 60% अंक प्राप्त करने चाहिए.

नीट परीक्षा में प्रश्नों का विवरण

विषयप्रश्नों की संख्याअंक
भौतिकी50200
रसायन विज्ञान50200
जीव विज्ञान (वनस्पति विज्ञान और जीव विज्ञान)100400
कुल180720

नोट:

  • परीक्षा में कुल 200 प्रश्न होते हैं, लेकिन उम्मीदवारों को केवल 180 प्रश्नों का उत्तर देना होता है।
  • प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का होता है।
  • 1 अंक की नकारात्मक अंकन (Negative Marking) भी होती है।
  • उम्मीदवारों को प्रत्येक विषय से कम से कम 40% अंक प्राप्त करने चाहिए।
  • कुल मिलाकर, उम्मीदवारों को परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए कम से कम 50% अंक प्राप्त करने चाहिए।

नीट के एग्जाम कब देनी चाहिए और कब होती है

नीट परीक्षा हर साल मई के महीने में आयोजित की जाती है। 2024 में, नीट परीक्षा 5 मई को आयोजित की जाएगी।

नीट परीक्षा देने का सबसे अच्छा समय वह समय है जब आप पूरी तरह से तैयार हों। यदि आप 11वीं कक्षा से ही तैयारी शुरू कर देते हैं तो आप नीट परीक्षा के लिए अच्छी तरह से तैयार हो सकते हैं।

यदि आप 12वीं कक्षा में हैं, तो आपको कम से कम 6 महीने पहले से तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। इससे आपको परीक्षा के लिए अच्छी तरह से तैयार होने और एक अच्छा स्कोर प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

नीट परीक्षा एक कठिन परीक्षा है, इसलिए आपको कड़ी मेहनत और समर्पण की आवश्यकता होगी। यदि आप तैयारी के लिए समय और प्रयास करते हैं, तो आप नीट परीक्षा में सफल हो सकते हैं।

भारत में नीट की कुल कितनी सीटें हैं?

2023 में, भारत में नीट के लिए कुल 1,70,870 सीटें उपलब्ध थीं। इनमें से 76,280 सीटें सरकारी मेडिकल कॉलेजों में और 94,590 सीटें निजी मेडिकल कॉलेजों में थीं।

2023 में नीट सीटों का वितरण

नीट के लिए सीटों की संख्या हर साल बढ़ रही है। यह भारत में मेडिकल शिक्षा की बढ़ती मांग को दर्शाता है।

नीट परीक्षा के माध्यम से प्रवेश पाने वाले उम्मीदवारों को 5 वर्षीय एमबीबीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश मिलता है। एमबीबीएस पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद, उम्मीदवारों को भारत में किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में डॉक्टर के रूप में अभ्यास करने के लिए लाइसेंस दिया जाता है।

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here